-->

Care Women's

Health and Personal care

Monday, October 9, 2017

7 Tips To Deal With Angry Child In Hindi


7 Tips To Deal With Angry Child In Hindi

आप अक्सर अपने आसपास ऐसे बच्चों को देखें होंगे जिन्हें बहुत जल्दी गुस्सा आता है, और छोटी-छोटी बातों पर जल्दी गुस्सा करने लगते हैं, ऐसे बच्चों को 'angry child' कहा जाता है | angry child को deal करना बहुत मुश्किल काम है क्योंकि ऐसे बच्चों को अचानक किन बातों पर गुस्सा आ  जाये इसे समझना parents के लिए थोडा मुश्किल होता है |

लेकिन इस article के माध्यम से आपकी मुश्किलें काफी हद तक कम हो सकती हैं | यहाँ पर angry child को deal करने के 7 tips दिए गये हैं जिससे आपको काफी benefits मिलेगा इसे ज़रूर पूरा पढ़ें

Read also:


1. जब बच्चा नाराज़ हो जाये तो उस पर मत चिल्लाएं 


जब बच्चे नाराज़ होते हैं या गुस्सा करते हैं  तो कई बार parents अपने बच्चे के गुस्से से निपटने के लिए खुद गुस्सा करने लगते हैं | लेकिन ऐसा करने से आपकी feeling out of control हो सकती है | जिससे आपको नुकसान भी सहना पड़ सकता है | इसलिए ऐसी situation में खुद को शांत रखना ही आपके लिए बेहतर होगा | क्योंकि जब दोनों पक्ष आक्रामक होते हैं तो स्थिति और बिगडती है न कि सुधरती है | इसलिए कोशिश करें कि जब आपका angry child गुस्से में हो तो आप तब तक wait करें जब तक बच्चा शांत नही हो जाता |

2. अपने physical reaction पर ध्यान दें 

आपको अपने physical reaction पर ध्यान देना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि आपके सेंस ही आपको बताते हैं कि आप कैसा feel कर रहे हैं, हो सकता है आपको feel हो रहा हो कि आप बच्चे की पिटाई कर दें जब बच्चा गुस्सा करे | लेकिन आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि इस situation में आपको शांत रहना है, क्योंकि आपको यह याद रखना है कि इन क्षणों में आपके बच्चे आपसे सीखते हैं कि गुस्से को कैसे control किया जाता है | और बिना physical reaction दिए हुए आप यह बता सकते हैं कि शांत रहकर कैसे गुस्से को कम किया जा सकता है |

3. छोटे बच्चे के साथ एक अलग approach(द्रष्टिकोण ) लें 

अगर आपका बच्चा छोटा है और गुस्सा कर रहा है तो आप खुद को थोडा बच्चे से दूर ले जाएँ लेकिन याद रखें कि आपकी नज़र बच्चे पर ज़रूर रहे | जब छोटे बच्चे परेशान होते हैं तो आप role model बनकर बच्चे को शांत रहना सिखा सकते हैं, जैसे जब आपको गुस्सा आये तो आप अपने बच्चे से कह सकते हैं कि आपकी इच्छा है कि आप उन्हें शांत करने में मदद करें | और तब तक आप शांत रहे जब तक बच्चे control feel न करें | 

4. bad behavior के लिए नतीजे दें, क्रोध के लिए नही 

जब आपका बच्चा गुस्सा करता है, और गुस्से में अपना control खो देता है, और बुरा व्यवहार करने लगता है, तब आपको उसके बुरे व्यवहार को नतीजे देना है न कि उसके emotions पर | उदाहरण के लिए अगर आपका बच्चा गुस्से में कुछ गलत काम करता है तो नियमो के उल्लंघन के लिए नतीजे दें | लेकिन बच्चा कोई नियम का उल्लंघन नही कर रहा है तो आप उसे उसके गुस्से के लिए शांत होने का समय ज़रूर दें | 

5. अधिक कठोर सजाएँ न दें 

जब बच्चा गुस्से के आवेश में चिल्ला रहा है ,और आप पर चिल्ला रहा है तो ऐसी situation में अक्सर parents बच्चों को कठोर दंड देने लगते हैं | लेकिन आपको ऐसा नही करना है, क्योंकि इस स्थिति में हालात और ख़राब  हो सकते हैं | 

बच्चे को जब आप कठोर दंड देते हैं तो उस समय आप अपना emotional control खो रहे होते हैं | मै समझती हूँ कि जब बच्चा परेशान करता है तो इसे सहन करना बहुत मुश्किल होता है लेकिन आपको खुद से यह पूछना होगा कि ऐसा करके आप बच्चों को क्या सिखा रहे हैं ?  क्योंकि कठोर सजाएँ देना स्थिति को और बिगाड़ सकती है | 

6. एक break लें 

मै अक्सर parents से एक question ज़रूर पूछना चाहूंगी कि जब वे आपस में एक दुसरे पर गुस्सा करते हैं तब खुद को शांत करने के लिए क्या करते हैं ? जहाँ तक मेरा अनुमान है अधिकतर parents यही कहेंगे कि वो एक break लेते हैं जबतक वे शांत होकर बात करने के लिए तैयार ना हो जाएँ | 

यह technique आपके बच्चों पर भी लागू होती है | लेकिन अक्सर parents इस बारे में नही सोचते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि बच्चों पर उनका control होना चाहिए | लेकिन याद रखिये जब कोई गुस्सा करता है तो उस वक़्त आप उनसे तर्क नही कर सकते हैं |

इसलिए याद रखें जब बच्चे गुस्से में हो तो एक break ले ले और वापिस आकर एक दुसरे से बात करें जब हर कोई शांत हो |

Read also:

7. एक अच्छे role model बनें 

मैंने अपने पहले कई article में लिखा है कि अगर बच्चों को कुछ सिखाना है तो आप एक अच्छे  role model बनकर सिखाएं, क्योंकि बच्चे आपको ही देखकर सिखने की कोशिश करते हैं | इसलिए मै सभी parents से यह कहूँगी कि बच्चों के सामने गुस्से से निपटने के लिए role model ज़रूर बने | 

जैसे आप जब गुस्से में हो तो अपने बच्चों से कह सकते हैं कि 
  • मै परेशान हूँ , मै एक break लेना चाहती हूँ 
  • मुझे शांत होने के लिए कुछ समय चाहिए , शांत होने के बाद मै आकर बात करुँगी 
यह याद रखें कि ऐसा कहना आपकी कमज़ोरी नही है, आप अपने गुस्से को control करने का सबक सीख रहें है और आप अपने angry child को भी सिखा रहें हैं कि कैसे गुस्से से निपटा जाता है ? 


Hey friends welcome to my blog Care Women's.i am Sabiha Khan from pune, India. i started care women's as a passion. Here at care women's I write about women's health, parenting, self improvement, realationship and beauty tips.

Follow by Email